सीसीटीवी फुटेज ने खोल दिया राज, ट्रेफिक पुलिस पर राजेश लगा रहा था गलत आरोप, होगी कार्रवाई

डिवीजनल कमिश्नर आनंद किशोर के आदेश पर पूरी राजधानी में गाड़ियों की चेंकिंग चल रही है. चेकिंग का उद्देश्य नए मोटर व्हैकिल एक्ट को सही तरीके से पालन कराना है. लेकिन आरोप है कि पटना ट्रैफिक पुलिस के जवान इस उद्देश्य से भटक गए हैं. पहले वो जबरन वसूली करने पर उतारू हो गए हैं. आपको बता दें कि नए नियम के लागू होने के बाद से ही जबरन वसूली का आरोप लगातार ट्रैफिक पुलिस के अफसर और जवानों पर लगता आ रहा है. लेकिन अब एक नया आरोप ट्रैफिक पुलिस के जवान पर लगा है. ये मामला पटना के गांधी मैदान ट्रैफिक थाना का है.
loading...
दरअसल, सोमवार को वैशाली जिले के राघोपुर के रहने वाले राजेश यादव को वाहन चेकिंग के नाम पर चिड़ैयाटांड़ पुलिस के पास से पकड़ लिया गया था. राजेश अपनी होंडा शाइन बाइक से था. आरोप है कि राजेश ने हेलमेट पहन रखी थी. उसके पास सारे डॉक्यूमेंट्स भी थे. बावजूद इसके उसे ट्रैफिक पुलिस वालों ने पकड़ लिया. पहले आरोप लगाया कि उसने हेलमेट नहीं पहन रखी थी. फिर कहा कि वो गलत साइड से आ रहा था. राजेश को पहले एग्जीविशन रोड के चेक पोस्ट पर ले जाया गया. फिर वहां से ट्रैफिक पुलिस का दूसरा जवान उसकी बाइक पर बैठा और सीधे गांधी मैदान ट्रैफिक थाना ले आया. राजेश का आरोप है कि थाना ले जाने के दौरान रास्ते मेंं उसकी जात पूछी गई. उसकी जात के बारे में बाइक पर जबरन बैठे ट्रैफिक जवान ने पूछी थी.
वहीं थाना पहुंचते ही राजेश पर लगेे आरोप भी बदल गए. थानेदार अरूण कुमार के सामने राजेश ने कहा भी कि उसने हेलमेट पहन रखी थी. उसके पास सारे डॉक्यूमेंट्स हैं, वो गलत साइड से भी नहीं आ रहा था. बावजूद इसके उसे पकड़ लिया गया. राजेश की मानें तो थाना पर डबल हेलमेट नहीं होने का नया आरोप लग गया. वहां पर जबरन कहा गया कि बाइक पर पीछे बैठे शख्स ने हेलमेट नहीं पहना था. इस आरोप का राजेश ने विरोध किया. राजेश का कहना है कि वो बाइक पर अकेले बैठा था. उसका दोस्त एग्जीविशन रोड में फाइल लेकर इंतजार कर रहा था.

कुछ घंटों की जांच में सामने आ गई असलियत
इस मामले की जानकारी पटना की एसएसपी गरिमा मलिक को भी अवगत कराया गया. साथ ही पटना के ट्रैफिक एसपी अमरकेश दारपीनेनी को दी गई. एसएसपी ने इस पूरे मामले के जांच के आदेश दिए हैं. अब पुलिस टीम जिस जगह पर राजेश को ट्रैफिक पुलिस वालों ने पकड़ा था, वहां पर लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगालने में जुटी. कुछ घंटों की जांच में सारी असलियत सामने आ गई. ट्रैफिक एसपी के अनुसार फुटेज में साफ तौर पर दिख रहा है कि राजेश यादव के साथ उसकी बाइक पर दूसरा शख्स भी पिछे बैठा हुआ था. पिछे बैठे शख्स ने हेलमेट नहीं पहन रखा था. यह शख्स ट्रफिक पुलिस के रोकने से 25-30 मीटर पहले उतर गया था. नियम तोड़ने के बाद भी वो पुलिस जवानों पर आरोप लगाता रहा. इस पूरे मामले पर अब ट्रैफिक पुलिस की तरफ से राजेश यादव के उपर एफआईआर दर्ज कराया जाएगा. उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.