'पुलिस की इस गलती पर पत्रकार ने टोक दिया तो हुई जमकर पिटाई’, SSP ने बताया की क्या है सच

नोएडा शहर में पिछले कुछ समय से मीडियाकर्मी लगातार पुलिस के निशाने पर दिख रहे हैं। हाल ही में नोएडा पुलिस ने कुछ कथित पत्रकारों को गलत कार्यवाहियों में लिप्त पाया और उन पर गैंगस्टर लगाकर उन्हें जेल भेज दिया था। इसके बाद एक और पत्रकार से नोएडा पुलिस द्वारा मारपीट का मामला सुर्खियों में बना रहा। वहीं, अब एक नेशनल न्यूज चैनल के पत्रकार ने पुलिस पर मारपीट करने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं।
loading...
हालांकि, गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण ने खुद इस मामले का संज्ञान लिया है। जांच में उन्होंने पाया कि गलती खुद पत्रकारों की थी। एसएसपी के मुताबिक, जब यह मामला उनके पास पहुंचा तो उन्होंने इसकी जांच सीओ सिटी फर्स्ट श्वेताभ पांडे को सौंपी। सीओ की जांच में जो सामने आया है वह यह कि पत्रकार राहुल कादयान के साथ मारपीट पुलिसकर्मियों ने नहीं बल्कि कुछ अज्ञात लोगों ने की। जब मारपीट हुई तब वहां कोई भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था। पुलिस जब मौके पर पहुंची तब पत्रकार नशे में थे और उनकी पिटाई वहीं कुछ लोगों ने की थी। पिटाई करने वालों की पहचान करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जानिए क्या है ये पूरा मामला
राहुल एक राष्ट्रीय न्यूज चैनल में पत्रकार हैं। गुरुवार की रात वह अपने कुछ दोस्तों के साथ नोएडा के सेक्टर-18 में थे। राहुल का आरोप है कि उसने सेक्टर-18 में बाइक पर बैठे दो पुलिसकर्मियों को रोका और कहा कि आप गलत दिशा (रॉन्ग साइड) में बाइक चला रहे हैं। इसके बाद उसकी उन पुलिसकर्मियों से नोकझोंक होने लगी। राहुल का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने उसे और उसके साथी राजीव को सड़क पर पीटा और चले गए। बाद में वह कुछ और पुलिसकर्मियों के साथ कार से मौके पर आए और उसे थाने ले गए। जहां फिर से उसकी पिटाई की गई।
राहुल का आरोप है कि इस दौरान पुलिसकर्मियों ने उसके मोबाइल को तोड़ दिया और रात भर थाना सेक्टर-20 में भी बैठाए रखा। पीड़ित का आरोप है कि पुलिस द्वारा मेडिकल के लिए उसे खून तक का सैंपल नहीं लिया गया, बावजूद इसके पुलिस ने उस पर शराब पीने के आरोप लगा दिए। इसके बाद उसके द्वारा पिटाई के निशान वाले फोटोग्राफ उसने एसएसपी वैभव कृष्ण को दिए। जिसके बाद एसएसपी ने मामले की जांच सीओ सिटी को सौंपी थी। जांच में सीओ सिटी ने पुलिसकर्मियों को क्लीनचिट दे दी। पुलिस ने इस मामले में सेक्टर-18 स्थित एक रेस्टोरेंट के मैनेजर को चश्मदीद बनाया है।