5 घंटे बैठी रही दुल्हन, और फिर आया दूल्हा लेकिन विवाह में नहीं शामिल हुआ दूल्हे का परिवार

गुरदासपुर जिले में विवाह करवाने का प्रलोभन देकर शारीरिक संबंध बनाने, विवाह के दिन अचानक लापता होने तथा विवाह से पहले 5 लाख रुपए की मांग करने वाले दूल्हे सहित उसकी मां, बहन व एक रिश्तेदार के विरुद्ध सिटी पुलिस गुरदासपुर ने केस दर्ज कर लिया है। वहीं आज दूल्हे ने अकेले ही गीता भवन मंदिर में आकर अपनी प्रेमिका से विवाह कर लिया।
loading...
दूसरी ओर दुल्हन के परिजनों का कहना है कि वह अपनी बेटी की विदाई तभी करेंगे जब दूल्हे का पूरा परिवार उनके घर आकर दुल्हन को विदा करने की बात करेगा।वर्णनीय है कि दीपिका गत दिवस दुल्हन का जोड़ा पहने बारात का इंतजार करती रही, परंतु दूल्हा अपने परिवार सहित लापता हो गया। उसने पुलिस को शिकायत दी थी कि उसके रमन कुमार पुत्र प्रभात चंद निवासी नजदीक अमर पैलेस गुरदासपुर से 7-8 वर्ष से प्रेम संबंध हैं तथा रमन कुमार विवाह का झांसा देकर उससे शारीरिक संबंध बनाता रहा।   
उसके बाद आरोपी मलेशिया चला गया तथा अब 2 माह पहले ही मलेशिया से लौटा तो विवाह की तिथि 29 सितम्बर निर्धारित हुई। गत दिवस गीता भवन मंदिर में विवाह के लिए रमन कुमार तथा उसका परिवार नहीं पहुंचा। मोबाइल पर रमन कुमार से बात की तो उसने दहेज में 5 लाख रुपए मांगे, परंतु आज अचानक गीता भवन मंदिर में दीपिका अपने परिवार सहित पहुंच गई। पता चला है कि पहले सुबह 11 बजे दूल्हे रमन कुमार ने आना था, परंतु वह काफी लेट आया जिसके बाद दोनों का विवाह हो गया।

दूल्हा बोला- जरूरी काम था इसलिए नहीं पहुंच सका

दूल्हे ने कहा कि मुझे गत दिवस कोई जरूरी काम पड़ गया था जिस कारण मैं विवाह में नहीं पहुंच सका। परिवार के आज न आने संबंधी उसने कहा कि वे ठीक नहीं हैं। विवाह करवाने के बाद कुछ देर बाद ही रमन वहां से चला गया, जबकि दीपिका अपने माता-पिता के साथ चली गई।

आरोपियों पर होगी कार्रवाई
सिटी पुलिस स्टेशन इंचार्ज कुलवंत सिंह ने कहा कि हमने गत दिवस दीपिका को समझाया था, परंतु उसने कहा था कि उसके द्वारा दर्ज कराए बयान अनुसार यदि रमन कुमार व उसके परिवार के विरुद्ध केस दर्ज न किया गया तो वह आत्महत्या कर लेगी। पुलिस ने आरोपी रमन कुमार, उसकी मां दर्शना देवी, बहन प्रिया देवी तथा रिश्तेदार मूर्ति राम निवासी गुरदासपुर के विरुद्ध केस दर्ज किया है जिसके अनुसार आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।